fbpx

न फोन, न ही कोई ऐप, मोबाइल से ज़्यादा काम कर देगा ‘खिलौने’ जैसा दिखने वाला ये डिवाइस

न फोन, न ही कोई ऐप, मोबाइल से ज़्यादा काम कर देगा ‘खिलौने’ जैसा दिखने वाला ये डिवाइस

फोन की ज़रूरत आजकल सभी को पड़ती है. शायद ही कोई ऐसा होगा जिसके पास मोबाइल न हो. मोबाइल फोन के आने के बाद सिर्फ एक दूसरे से बात करना आसान नहीं हुआ बल्कि जब स्मार्टफोन आया तो कई और सुविधाएं भी साथ आ गई. अब  फोन में मौजूद तमाम ऐप की मदद से कैब बुकिंग, खाना ऑर्डर और बैंक का काम भी फोन पर किया जा सकता है. तकनीक इतनी तेजी से बढ़ रही है कि जब भी कोई नया फोन लॉन्च होता है, उसमें कोई खास तकनीक देखने को मिलती है. कुछ समय से आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस को लेकर काफी चर्चा है. सैमसंग ने भी हाल ही में अपने लेटेस्ट गैलेक्सी S24 सीरीज़ फोन में AI फीचर दिया है. इसके अलावा हाल ही में आयोजित हुए CES 2024 में भी कई लेटेस्ट टेक्नोलॉजी को पेश किया गया.

इसी बीच एक खास डिवाइस ने सबका ध्यान खींचा है. इस डिवाइस का नाम Rabbit r1. ये AI असिस्टेंट गैजेट बिलकुल फोन की तरह आपके पॉकेट में फिट हो जाएगा, और ये कस्टमाइज़ ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम करता है. इस गैजेट को US के एक स्टार्टअप ने पेश किया है.

कंपनी का दावा है कि ये डिवाइस कई ऐसे काम कर सकता है जो फोन भी नहीं कर सकता है. यहां तक ​​कि माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्य नडेला ने भी इसे ‘सबसे इम्रेसिव’ डिवाइस कहा और इसकी तुलना स्टीव जॉब्स द्वारा पेश किए गए पहले आईफोन से की है. नडेला ने कहा है कि उन्होंने आईफोन 7 के बाद पहली बार कोई इंप्रेसिव गैजेट देखा है.

बता दें कि Rabbit R1 एक कस्टमाइज़ ऑपरेटिंग सिस्टम पर काम करता है, जिसे Rabbit OS कहा जाता है. खास बात ये है कि खिलौने की तरह दिखने वाला ये डिवाइस क्लाउड बेस्ड सॉलूशन लेकर आया है, और इसे ऐप्स की ज़रूरत को खत्म करने के लिए डिज़ाइन किया गया है.

ऐप सपोर्ट के बजाए रैबिट R1 को AI का इस्तेमाल करके ऐप इंटरैक्शन को स्टडी करने और फिर उनकी जगह पर काम करने के लिए ट्रेन किया गया है.

एक कमांड देकर यूज़र्स रैबिट R1 की मदद से किराने का सामान ऑर्डर कर सकते हैं, मैसेज सेंड और रिसीव कर सकते हैं, टैक्सी बुक करा सकते हैं या यहां तक ​​कि म्यूज़िक भी चला सकते हैं.

इस AI से लैस डिवाइस में MediaTek चिपसेट मिलता है, जो कि 4GB की रैम के साथ आता है, और इसमें 128GB की इंटरनल स्टोरेज मिलती है. इस डिवाइस में 2.88 इंच की टचस्क्रीन का डिस्प्ले मिलता है, जिसपर आप AI टास्क देख सकेंगे. ये डिवाइस सिम कार्ड की मदद से Wi-Fi और 4G LTE कनेक्टिविटी दोनों को सपोर्ट करता है.

खास बात ये है कि इस डिवाइस में 360-डिग्री रोटेटिंग कैमरा मिलता है, जो कि प्राइवेसी मोड के साथ आता है, और इसके ज़रिए वीडियो कॉलिंग भी की जा सकती है. पावर के लिए इस डिवाइस में 1,000mAh की बैटरी दी गई है, जो कि USB Type-C चार्जिंग पोर्ट के साथ आती है.

कीमत की बात करें तो रैबिट r1 की कीमत $199 (लगभग 16,500 रुपये) तय की गई है और यह डिवाइस ऑरेन्ज में उपलब्ध होगा. कंपनी का कहना है कि उम्मीद है कि 31 मार्च तक प्री-ऑर्डर किए गए डिवाइस के लिए यूएस शिपिंग अप्रैल तक शुरू हो जाएगी. फिलहाल कंपनी ने इस बात की कोई जानकारी नहीं दी है कि इस डिवाइस को भारत में कब लॉन्च किया जाएगा.

Tags: Mobile Phone, Tech news

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *