fbpx

Caste Based Census: बिहार में अब कोड से जानी जाएंगी जातियां, जानिए आपकी बिरादरी का क्या है नंबर ?

Caste Based Census: बिहार में अब कोड से जानी जाएंगी जातियां, जानिए आपकी बिरादरी का क्या है नंबर ?

पटना. भले ही आपके लिए यह चौंकाने वाली बात हो पर ये हकीकत है कि बिहार में अब जातियों की पहचान कोड के जरिए होगी. बिहार में जातीय जनगणना जारी है और पहले चरण का गणना खत्म हो चुकी है. 15 अप्रैल से दूसरे चरण की गणना शुरू होने वाली है. जाति आधारित जनगणना के दूसरे चरण में जातियों की पहचान दिए गए अलग-अलग कोड के जरिए होगी. दूसरे चरण में प्रपत्र के अलावा पोर्टल और मोबाइल ऐप के जरिए जाति के अंकों के आाधार पर बनाए गए कोड भरे जाएंगे जिससे जातियों की पहचान हो जाएगी.

15 अप्रैल से होने वाली दूसरे चरण की गणना में 215 और एक अन्य मिलाकर कुल 216 जातियों की आबादी की गिनती होगी. 11 अप्रैल तक अधिकारियों से लेकर गणनाकर्मियों तक को प्रशिक्षण दिया जाएगा. कोड या अंक का उपयोग भविष्य की योजनाएं तैयार करने के लिए किया जा सकेगा.

जानिए किस जाति के लिए कौन सा है कोड

आपके शहर से (पटना)


  • Buxar News: यहां बिजली बिल की गड़बड़ी से परेशान हैं उपभोक्ता, न्याय के लिए लगा रहे गुहार

  • IAS IPS Village: ये है आईएएस आईपीएस की 'फैक्ट्री', सिर्फ 75 घरों वाले गांव से निकल चुके हैं 47 अफसर

    IAS IPS Village: ये है आईएएस आईपीएस की ‘फैक्ट्री’, सिर्फ 75 घरों वाले गांव से निकल चुके हैं 47 अफसर

  • RLJD: उपेंद्र कुशवाहा की नई टीम का हुआ गठन, जीतेन्द्रनाथ बने राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, आरसीपी सिंह को लेकर नई अटकलें

    RLJD: उपेंद्र कुशवाहा की नई टीम का हुआ गठन, जीतेन्द्रनाथ बने राष्ट्रीय उपाध्यक्ष, आरसीपी सिंह को लेकर नई अटकलें

  • Bihar में हिंसा को लेकर Asaduddin Owaisi का Nitish Kumar पर बड़ा हमला | | Top News | Breaking News

    Bihar में हिंसा को लेकर Asaduddin Owaisi का Nitish Kumar पर बड़ा हमला | | Top News | Breaking News

  • लालकिला वाले इफ्तार से मचा था हंगामा, अब CM आवास में 7 अप्रैल को रोजेदारों की खातिरदारी करेंगे नीतीश कुमार

    लालकिला वाले इफ्तार से मचा था हंगामा, अब CM आवास में 7 अप्रैल को रोजेदारों की खातिरदारी करेंगे नीतीश कुमार

  • शराब धंधेबाजों की गिरफ्तारी से भड़के ग्रामीण, रास्ते में रोक कर पुलिस जवान को पीटा

    शराब धंधेबाजों की गिरफ्तारी से भड़के ग्रामीण, रास्ते में रोक कर पुलिस जवान को पीटा

  • सहरसा में यहां मिलता है सस्ता व टिकाऊ फर्नीचर, मात्र ₹6000 में मिलेगा डिजाइनर पलंग

    सहरसा में यहां मिलता है सस्ता व टिकाऊ फर्नीचर, मात्र ₹6000 में मिलेगा डिजाइनर पलंग

  • Bihar & Jharkhand News: तमाम ख़बरें फटाफट अंदाज़ में | Top Headlines | Gaon Sheher 100 Khabar

    Bihar & Jharkhand News: तमाम ख़बरें फटाफट अंदाज़ में | Top Headlines | Gaon Sheher 100 Khabar

  • OMG! गया का यह अस्पताल है बीमार, इलाज की जरूरत, विभाग नहीं दे रहा ध्यान

    OMG! गया का यह अस्पताल है बीमार, इलाज की जरूरत, विभाग नहीं दे रहा ध्यान

  • 4 दिन से इंटरनेट बंद, 50 गिरफ्तारी, जानें सांप्रदायिक हिंसा के बाद कैसे सामान्य हो रहा सासाराम

    4 दिन से इंटरनेट बंद, 50 गिरफ्तारी, जानें सांप्रदायिक हिंसा के बाद कैसे सामान्य हो रहा सासाराम

  • Chapra Crime News : यहां पानी के लिए दबंग मांगते हैं रंगदारी, न देने पर वार्ड सदस्य के परिवार को पीटा

    Chapra Crime News : यहां पानी के लिए दबंग मांगते हैं रंगदारी, न देने पर वार्ड सदस्य के परिवार को पीटा

जातीय आधारित जनगणना में विभिन्न जातियों  के लिए अलग-अलग कोड का इस्तेमाल किया गया है. कुल 216 जातियों के कोड पर नजर डालें तो एक नंबर पर अगरिया जाति है. अन्य का कोड 216 है वहीं केवानी जाति के लिए 215 वां कोड इस्तेमाल किया गया है. सवर्ण जातियों की बात करें तो भूमिहार के लिए 144, कायस्थ के लिये 22, ब्राह्मण के लिए 128, राजपूत के लिए 171 है. कुर्मी जाति का अंक 25 और कुशवाहा कोइरी का 27 है.

इनके लिये ये अंक

यादव जाति में ग्वाला, अहीर, गोरा, घासी, मेहर, सदगोप, लक्ष्मीनारायण गोला के लिए 167 है. बनिया जाति में सूढ़ी, गोदक, मायरा, रोनियार, पंसारी, मोदी, कसेरा, केसरवानी, ठठेरा, कलवार, कमलापुरी वैश्य, माहुरी वैश्य, बंगी वैश्य, वैश्य पोद्दार, बर्नवाल, अग्रहरी वैश्य, कसौधन, गंधबनिक, बाथम वैश्य, गोलदार आदि शामिल हैं.

दो बार नहीं करवा सकते जातियों की गणना

15 अप्रैल से शुरू होने वाले जाति आधारित जनगणना में मोबाइल एप का इस्तेमाल किया जा रहा है, जिससे जातियों के दुबारा गणना होने से बचा जा सकेगा. अगर एक ही परिवार के जातियों की गणना दो जगहों से दुबारा कराई जाएगी तो एप के जरिए पकड़ में आ सकता है.

Tags: Bihar News, Caste Based Census, PATNA NEWS

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *